CBSELesson Plan

[Download] पाठ योजना हिंदी कक्षा 10 PDF | Hindi Lesson Plan Class 10 PDF

दोस्तों, क्या आप पाठ योजना की तलाश में है और आपको हिंदी विषय के लिए पाठ योजना चाहिए और वह भी पीडीएफ में, तो यह पोस्ट आपके लिए काफी जरूरतमंद साबित हो सकता है क्योंकि आज की इस पोस्ट में हम आपको पाठ योजना हिंदी कक्षा 10 pdf प्रोवाइड करने जा रहे हैं जो बिल्कुल फ्री में होगी और आपके शिक्षण कार्य में काफी मदद भी करेगी। 

पीएफ प्रोवाइड करने से पहले हम आपको पाठ योजना हिंदी कक्षा 10 के लिए फॉर्मेट बताने जा रहे हैं जिससे आपको समझने में आसानी होगी और आप जान पाएंगे की किस तरह से पाठ योजना बनाई जाती है। 

पाठ योजना क्या होता है?

जिस प्रकार एक इंजीनियर को मकान या कोई भी प्रोजेक्ट को तैयार करने के लिए एक नक्शा तैयार करने की जरूरत पड़ती है ठीक उसी प्रकार शिक्षक अपना टीचिंग करने के लिए एक रणनीति या योजना तैयार करने की जरूरत पड़ती है जिसे हम पाठ योजना कहते हैं।

पाठ योजना एक शिक्षा योजना का हिस्सा होता है जिसमें एक शिक्षक या प्रशिक्षक द्वारा किसी विशिष्ट पाठ की विवरणी और आयोजन की जाती है जिसके द्वारा शिक्षण कार्य को सवारने और प्रस्तुत करने में मदद मिलती है।

पाठ योजना हिंदी कक्षा 10 PDF | Hindi Lesson Plan Class 10 PDF

आप बात करें पाठ योजना हिंदी कक्षा 10 के लिए क्या पाठ योजना होनी चाहिए तो आप नीचे एक फॉर्मेट को देख सकते हैं कि किस तरह से आपको हिंदी विषय में कक्षा 10 के लिए पाठ योजना तैयार करनी चाहिए।

पाठ योजना संख्या : 20

विद्यालय का नाम : __________________

छात्रध्यापक/छात्रध्यापिका का नाम : __________________

दिनांक कक्षा विषय कालांश अवधि
12-08-2023 10 हिंदी प्रथम 45 मिनट

प्रकरण : माता का अंचल

सामान्य उद्देश्य :

  1. छात्रों में शुद्ध एवं परिमार्जित की भाषा का ज्ञान दिलाना। 
  2. छात्रों के प्रति रुचि उत्पन्न करना। 
  3. छात्रों को पठन-पाठन के द्वारा उसे कठिन शब्द का उच्चारण करना सिखाना।
  4. छात्रा को उचित आरोह विराम आदि के साथ वाचन में अभ्यास कराना।
  5. छात्रों के लेखन क्षमता का विकास करना।

विशिष्ट उद्देश्य :

  • छात्र शिवपूजन सहाय के विचार को समझने में सक्षम होंगे I
  • माता का आंचल के बारे में जो विचार रखते हैं उसको बच्चे बता पाने में सक्षम होंगेI
  • छात्रों को इसके माध्यम से लेखक के जीवनी से परिचित कर सकेंगेI

शिक्षण सहायक सामग्री : चौक, डस्टर, श्यामपट्ट, चार्ट आदिI

शिक्षण विधि : प्रश्नोत्तर विधि और व्याख्यान विधि।

पूर्व ज्ञान : छात्रों को माता का अंचल के बारे में सामान्य जानकारी होगी I

प्रस्तावना :

क्र.सं छात्राध्यापक क्रिया छात्र क्रिया
1 छोटा बच्चा किसके पास ज्यादा समय व्यतीत करता है? मां के पास
2 जब मां बच्चों को छोड़कर बाजार जाती है तो बच्चा क्या करता है? बच्चा रोने लगता है
3 बच्चा जब रोता है तो मां क्या करती है? चुप कर आती है
4 चुप करने के लिए मां बच्चों के आंसू किससे पोछती है? अपने कपड़े से या आंचल से

उद्देश्य कथन : बच्चों आज हम लोग लेखक शिवपूजन सहाय द्वारा रचित पाठ “माता का अंचल” शीर्षक का अध्ययन करेंगे

प्रस्तुतीकरण :

शिक्षण बिंदु छात्राध्यापक क्रियाकलाप छात्र/छात्रा क्रियाकलाप श्यामपट्ट कार्य
लेखक का जीवन परिचय शिवपूजन सहाय का जन्म 9 अगस्त 1893 उनवास गांव जिला भोजपुर बिहार में हुआ। उनके बचपन का नाम भोलानाथ था, दसवीं की परीक्षा पास करने के बाद उन्होंने बनारस के अदालत में नकलनविस की नौकरी की और बाद में वह हिंदी के अध्यापक बन गए। असहयोग आंदोलन के प्रभाव से उन्होंने सरकारी नौकरी से त्यागपत्र दे दिया। शिवपूजन सहाय अपने समय के लेखकों में बहुत लोकप्रिय और सम्मानित व्यक्ति थे। सन 1963 में उनका देहांत हो गया वह मुख्यता गघ के लेखक थे।
प्रमुख रचनाएं : देहाती दुनिया, ग्राम सुधार, वे दिन वे लोग, स्मृति शेष आदि।
छात्र/छात्रा ध्यान पूर्वक सुनेंगे समझेंगे तथा अपनी उत्तर पुस्तिका में लिखेंगे। लेखक का जीवन परिचय : शिवपूजन सहाय का जन्म 9 अगस्त 1893 में हुआ था।
जन्म स्थान : उनवास गांव, जिला भोजपुर बिहार।
मृत्यु : 1963

बोधात्मक प्रश्न :

छात्राध्यापक क्रियाकलाप छात्र/छात्रा क्रियाकलाप
शिवपूजन सहाय का जन्म कब हुआ था? 9 अगस्त 1893
शिवपूजन सहाय के बचपन का नाम क्या था? भोलानाथ
लेखक का वास्तविक नाम क्या था? तारकेश्वर नाथ

आदर्श वाचन : छात्राध्यापक द्वारा उचित लय, आरोह-अवरोह के साथ कविता का आदर्श वाचन किया जाएगा।

अनुकरण वचन : कतिपय छात्रों द्वारा करवाया जाएगा।

कठिन निवारण :

शब्द अर्थ
मृदंग एक प्रकार का वाद्य यंत्र
तड़के सुबह
लिलार माथा
त्रिपुंड एक प्रकार का तिलक जिसमें माथे पर तीन आड़ी या अर्धचंद्र के आकार की रेखाएं बनाई जाती है।
जटाएं बाल

पुनरावृति :

लेखक शिवपूजन सहाय का जन्म 9 अगस्त 1893 ई में उनवास गांव बिहार में हुआ था।

माता का आंचल पाठ में लेखक माता-पिता के स्नेह और शरारत से उनसे अपने बचपन को याद करते हुए कहानी का वर्णन किए हैं।

आदर्श वाचन : छात्राध्यापक द्वारा किया जायेगा।

अनुकरण वाचन : कतिपय छात्रों द्वारा करवाया जाएगा।

मूल्यांकन प्रश्न :

  • बच्चे माता पिता के प्रति अपने प्रेम कैसे अभिव्यक्त करते हैं?
  • पाठ तथा लेखक का नाम बताएं?

श्यामपट्ट कार्य : छात्राध्यापक छात्रों से श्यामपट्ट कार्य कॉपी में उतारने के लिए कहेंगे।

निरीक्षण कार्य : जब छात्र श्यामपट्ट कार्य कॉपी में उतार रहे होंगे तब छात्राध्यापक कक्षा में घूम घूम कर उनकी कॉपियों का निरीक्षण करेंगे।

गृह कार्य : इस पाठ में बच्चों कि जो दुनि अगर आपया रखी गई है वह आपके बचपन की दुनिया से किस तरह भिन्न है? लिखकर लाएं।

पर्यवेक्षक हस्ताक्षर               छात्राध्यापक हस्ताक्षर     

पाठ योजना हिंदी कक्षा 10 PDF Download   

अगर आप पाठ योजना हिंदी कक्षा 10 का पीडीएफ डाउनलोड करना चाहते हैं तो नीचे दे के बटन पर क्लिक करके डाउनलोड कर सकते हैं और अपने मोबाइल में बिना इंटरनेट के माध्यम से एक्सेस कर सकते हैं।

पाठ योजना हिंदी कक्षा 10 PDF

सारांश

हमें आशा है कि इस पोस्ट में दी गई सामग्री जैसे पाठ योजना क्या होता है, पाठ योजना का चरण और पाठ योजना हिंदी कक्षा 10 PDF जो आपके लिए काफी जरूरत साबित हुआ होगा। अगर आपको इस पोस्ट में दी गई सामग्री सही में उपयोगी लगा हो तो आप अपने दोस्तों को भी जरूर शेयर कर दें जिससे उनका भी थोड़ा-सा मदद हो जाए।

FAQ

Q1. पाठ योजना क्या होती है?

पाठ योजना एक प्रकार से शिक्षण विधि के लिए योजना होती है जिसमें शिक्षक द्वारा किसी विशिष्ट पाठ की योजना बनाई जाती है। इसमें पाठ के उद्देश्य, सामग्री, शिक्षण तकनीक, समयावधि, गतिविधियाँ, मूल्यांकन आदि का विवरण होता है।

Q2. पाठ योजना क्यों महत्वपूर्ण है?

पाठ योजना शिक्षक और छात्रों दोनों के लिए महत्वपूर्ण है। इससे शिक्षक अपने पाठ को अच्छे ढंग से प्रस्तुत कर सकते हैं, जो छात्रों को सीखने में मदद करता है।

Q3. पाठ योजना में मूल्यांकन क्यों महत्वपूर्ण है?

मूल्यांकन से शिक्षक यह जान सकते हैं कि छात्रों ने पाठ को कैसे समझा और सीखा है। छात्रों का मूल्यांकन करके शिक्षक उनकी प्रगति को माप सकते हैं और आवश्यकतानुसार उनकी सहायता कर सकते हैं।

Q4. पाठ योजना का मकसद क्या होता है?

पाठ योजना का मकसद पाठ को संरचित और आयोजित तरीके से प्रस्तुत करना होता है ताकि छात्रों को सीखने का संरचित अवसर मिल सके और उन्हें अधिक समझाया जा सके।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *